• Categories
Location |   Home >> Hindi Shayari
  • Hindi Shayari 48
  • “जिनके पास अपने हैं
    वो अपनों से झगड़ते हैं
    जिनका कोई नहीं अपना
    वो अपनों को तरसते हैं
    कल न हम होंगे न गिला होगा
    सिर्फ सिमटी हुई यादों का सिललिसा होगा
    जो लम्हे हैं चलो हंसकर बिता लें
    जाने कल जिंदगी का क्या फैसला होगा”
  • 2 years ago



    Tags : Hindi Shayari , Shayari SMS , Hindi Thoughts (Suvichar) SMS , Hindi SMS , Hindi Message
  • खोल दे पंख मेरे कहता है परिंदा,
    अभी और उड़ान बाकी है,
    जमीन नहीं है मंजिल मेरी,
    अभी पूरा आसमान बाकी है।
  • 2 years ago



    Tags : Hindi Shayari , Shayari SMS
  • पीपल के पत्तों जैसा मत बनिए,
    जो वक़्त आने पर सूख कर गिर जाते है।
    अगर बनना ही है,
    तो मेहंदी के पत्तों जैसा बनिए,
    जो सूखने के बाद भी,
    पीसने पर दूसरों की ज़िन्दगी में रंग भर देते हैं।
  • 2 years ago



    Tags : Hindi Thoughts (Suvichar) SMS , Hindu SMS , Nice Shayri SMS , Hindi Shayari , Hindi Message